CUET रिजल्ट में देरी से छात्रों में नाराजगी, 12वीं के परिणाम से UG में एडमिशन,NTA और शिक्षा व्यवस्था पर उठाए सवाल..


NTA To Release CUET UG Result 2024: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी अपने तय समय पर सीयूईटी यूजी 2024 परीक्षा के नतीजे जारी नहीं कर पायी. रिजल्ट आने में डिले हो रहा है और कारण स्पष्ट नहीं है. इस बीच यूजीसी एनटीए के बचाव में उतरा और यूनिवर्सिटी ग्रैंट्स कमीशन के अध्यक्ष एम जगदीश कुमार ने कहा कि एनटीए इस बाबत काम कर रहा है. जल्दी ही रिजल्ट रिलीज होने की तारीख जारी होगी. अभी तक इस बारे में एनटीए की तरफ से कोई ऑफिशियल अपडेट नहीं आया है.

झारखंड के छात्र cuet exam से है नाराज, शिक्षा व्यवस्था पर उठा सवाल..

12वीं की परीक्षा पास करने के बाद, छात्रों को अंडरग्रेजुएट (UG) कोर्सेज़ में प्रवेश के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (CUET) देना होता है, जिसे नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) पूरे देश में आयोजित करती है। झारखंड में भी किसी भी विश्वविद्यालय या कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए CUET का एग्जाम अनिवार्य कर दिया गया था। CUET के परिणामों के आधार पर छात्रों को मेरिट के अनुसार प्रवेश मिलना था। 

हालांकि, CUET के परिणाम अभी तक जारी नहीं हुए हैं, जिसके चलते झारखंड की सभी यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों में 12वीं के रिजल्ट के आधार पर UG में एडमिशन हो रहे हैं। इस स्थिति ने छात्रों के बीच असंतोष और भ्रम पैदा कर दिया है।

Picsart_24-03-22_12-10-21-076
Picsart_24-03-22_12-11-20-925
Picsart_24-03-22_12-08-24-108
Picsart_24-03-22_12-13-02-284

गिरिडीह व्यूज से बातचीत करते हुए कई छात्रों ने NTA और शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। छात्रों का कहना है कि देश में किसी भी यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने के लिए CUET का एग्जाम देना अनिवार्य कर दिया गया था, और उन्होंने भी यह एग्जाम दिया। CUET के रिजल्ट के आधार पर एडमिशन होना था, लेकिन बड़े विश्वविद्यालयों को छोड़कर, सभी स्टेट यूनिवर्सिटीज़ में 12वीं बोर्ड रिजल्ट के आधार पर एडमिशन हो रहे हैं।

छात्रों का यह भी कहना है कि अगर एडमिशन 12वीं के रिजल्ट के आधार पर ही होना था, तो CUET का एग्जाम अनिवार्य क्यों किया गया? एग्जाम के लिए छात्रों को 4-5 दिन घर से दूर जाकर परीक्षा देनी पड़ी, पैसे खर्च हुए, लेकिन झारखंड की सभी यूनिवर्सिटीज़ में 12वीं के रिजल्ट के आधार पर ही मेरिट ली गई। 

छात्रों ने यह सवाल उठाया है कि अगर एडमिशन 12वीं के रिजल्ट से ही होना था, तो CUET का एग्जाम क्यों लिया गया? छात्रों ने बताया कि 12वीं की परीक्षा देने के बाद उन्होंने एक महीने तक CUET की तैयारी की, कई बड़े कोचिंग सेंटर्स का कोर्स किया, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। 

छात्रों ने शिक्षा व्यवस्था और NTA से यह सवाल किया है कि इस व्यवस्था में सुधार कब और कैसे होगा ताकि भविष्य में छात्रों को ऐसी समस्याओं का सामना न करना पड़े।

30 जून को आना था रिजल्ट..

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने शुरुआत में सीयूईटी यूजी परीक्षा का पूरा शेड्यूल जारी किया था. इसमें दी जानकारी के मुताबिक कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट 2024 के नतीजे 30 जून को घोषित होने की बात कही गई थी पर ऐसा नहीं हुआ. न नतीजे जारी हुए और न ही अब तक रिजल्ट रिलीज होने के बार में किसी तरह की सूचना एनटीए ने दी है.

संभावित थी तारीख..

यहां पर ये बात भी ध्यान देने योग्य है कि एनटीए ने 30 जून संभावित तारीख कही थी. उन्होंने ये नहीं कहा था कि इस डेट पर रिजल्ट जरूर आ जाएगा. इसमें बदलाव हो सकता है ये पहले ही साफ कर दिया गया था. इसके साथ ही वर्तमान में देश में बड़ी-बड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं को लेकर चल रहे विवादों के बीच एनटीए के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतना भी जरूरी है.

इन तारीखों पर हुई थी परीक्षा..

बता दें कि सीयूईटी यूजी के स्कोर के आधार पर ही कैंडिडेट्स को बहुत सी सेंट्रल यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिलेगा. ये परीक्षा 15 से 31 मई के बीच पेन पेपर मोड और कंप्यूटर मोड दोनों में आयोजित की गई थी. अब इसके नतीजों का कैंडिडेट्स को बेसब्री से इंतजार है. यूजीसी के लिए इस परीक्षा का आयोजन एनटीए करता है.

 

छात्रों ने खोला एनटीए के खिलाफ खोला मोर्चा

देश के विभिन्न छात्र संगठनों ने एनटीए के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बड़ी संख्या में देश के विभिन्न हिस्सों में और दिल्ली में छात्र संगठन विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों ने जंतर- मंतर के अलावा एनटीए ऑफिस के बाहर भी विरोध प्रदर्शन किया। एनएसयूआई, एबीवीपी, आइसा, एसएफआई सहित विभिन्न संगठनों ने इस मामले को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page