युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा देकर और बजाज फाइनेंस का फर्जी अधिकारी बनकर लोगों को चूना लगाने वाला 9 शातिर साइबर अपराधी गिरफ्तार..


Picsart_23-03-27_18-09-27-716

गिरिडीह पुलिस द्वारा लागतार चलाए जा रहे अभियान में, गिरिडीह पुलिस को एक बार फिर बड़ी सफलता हासिल हुई हैं, दरसल साइबर अपराधियों के खिलाफ पुलिस ने छापामारी करते हुए पुलिस ने 9 ऐसे शातिर साइबर अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है जो लोगों को नौकरी दिलाने का झांसा देते थे और फर्जी बजाज फाइनेंस कम्पनी का कर्मी बनकर, वर्क फॉर होम का झांसा देकर और सेक्सटॉर्शन करने व एस्कॉर्ट सप्लायर बनकर पैसे ठगी का काम करते थे. पुलिस ने जिन साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार अपराधियों में हजारीबाग के गोरहर थाना इलाके के बंदासिंघा दीपक कुमार, जमुआ के परगोडीह निवासी सिकंदर राय, डुमरी के जामतारा निवासी मोहम्मद सिराज, सरिया के नगर केशवरी निवासी विकास मंडल, राजू मंडल, देवरी के अभिषेक मिश्रा, हीरोडीह के चुगलखार निवासी शैलेंद्र सिंह, जमुआ के मोती साहा और जमुआ के भूपतडीह निवासी चंदन मालाकार शामिल है.

Advertisement

गिरफ्तार इन नौ अपराधियों के पास से पुलिस ने 25 मोबाइल के साथ 28 सीम कार्ड, 23 एटीएम, 17 पासबुक समेत कई अन्य सामानों को भी बरामद किया है.उक्त आशय की जानकारी गिरिडीह के एसपी दीपक कुमार शर्मा ने दी. उन्होंने बताया कि प्रतिबिंब पोर्टल के माध्यम से लगातार सूचना मिल रही थी कि जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में साइबर अपराधी अलग-अलग तरीकों से लोगों को चूना लगाने का काम कर रहे है.

 

इसके बाद, डुमरी एसडीपीओ सुमित प्रसाद ने एक टीम गठित की, जिसमें प्रशिक्षु डीएसपी कैलाश महतो, साइबर थाना प्रभारी अजय कुमार, पुलिस निरीक्षक ज्ञान रंजन कुमार, और अन्य सदस्य शामिल थे। इस टीम ने अलग-अलग थाना क्षेत्रों में छापेमारी करके 9 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि इस गिरोह का मास्टरमाइंड चंदन कुमार है।जो बजाज का फाइनेंस कंपनी का फर्जी बैंक कर्मी बनकर लोगों को ठगने का काम करता था।

-Advertisment-

15 Dec Giridih Views
Picsart_23-02-13_12-54-53-489
Picsart_24-02-06_09-30-12-569
Picsart_22-12-10_00-00-01-405
Picsart_22-02-04_22-56-13-543

एसपी दीपक कुमार शर्मा और डीएसपी सुमित प्रसाद ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी युवाओं को वर्क फ्रॉम होम की नौकरी का लालच देकर उनकी गढ़ाई कमाई को ठगा करते थे बल्कि, गूगल सर्च इंजन पर फिट नंबर पर भी कॉल कर सेक्सटाशन का शिकार बनाया करते थे. एसपी के अनुसार इस गिरोह का मास्टर माइंड खुद जमुआ का चंदन मालाकार ही था, जो गिरोह को गाइड करता था. फिलहाल, पिछले पांच महीने में पुलिस ने जिले के साथ कई दूसरे जिले से 194 साइबर अपराधियो को जेल भेज चुकी है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page